Posts

Showing posts from October, 2011

Blog Award!

Image
I am happy to receive this from  Namrata .  Thanks! The rule is to state 7 things about me;(Have chronicled enough on this  here , won’t ramble on it anymore) :D But most importantly the rule entails to pass it on to 15 more bloggers. That is the same number of the blogs as there in my reading list. Despite being pruned down, the list gives you a glimpse of my favourite bunch. There are more than this that I like, but then there are many more!                                                                                                                                                           KHOJ A-musing The Princess Passions Prakosht Lost and Found Aesthetic blasphemy think();printf(); Freebird Until you came WORDS From Devil's Workshop Inertia of Rest Scribblings...   Zebra Talk   A dash of Pepper Thanks.

तुम

हर अनसुनी दुआ में हो तुम हर अनकही  अभिव्यक्ति में हो तुम उस ओझल एहसास में हो तुम हर   दैनिक संघर्ष में हो तुम छिपे  बीते हुए कल की आड़ में छिपे आने वाले कल की आहट  में बीतें हुए कल में यादों की तरह आनेवाले पल में एक उमींद की तरह हर दिन के खुलते पहर में हो तुम उसी दिन की ढलती हुई शाम में हो  तुम है यही वेदना की मेरे आज में नहीं हो तुम पर इस  वेदना में भी  मेरी नम्रता हो तुम हर उठती  गिरिती तरंग में हो तुम हर उस झिलमिल एहसास में हो तुम जिससे है मेरी मुस्कराहट  निश्छल जिससे है मेरे आंसू बोझल  जिसकी कहते है लोफ विभिन्न भावनाएं हर का स्त्रोत , हर का अंत हो तुम ...