तू हासिल नहीं



तू नायाब भी है, तू शामिल भी | 
तू हुक़्म भी है,तू साहिल भी | 
यूँ तो तेरी सल्तनत की रिवायत सुनी है हमने,
आज तेरा ज़िक्र तो है, पर तू हासिल नहीं  |





Glossary:
नायाब : difficult to find
सल्तनत: Kingdom
रिवायत: Narrative

Comments

Popular posts from this blog

तुम

Idk

I am waiting